किसान सेवा सम्मान समारोह में बिहार कृषि मंत्री Prem Kumar ने कहा – किसान हमारे अन्नदाता हैं

किसान सेवा सम्मान समारोह में बिहार कृषि मंत्री Prem Kumar ने कहा – किसान हमारे अन्नदाता हैं

वैशाली जिले के मदरना में बिहार सरकार के कृषि मंत्री डॉक्टर प्रेम कुमार (कृषि पशु,मत्स्य संसाधन विभाग) ने जन स्वास्थ्य कल्याण समिति के तत्वधान में किसान सम्मान समारोह का उद्घाटन करने के बाद उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी के अगुवाई में सरकार की प्राथमिकता सूची में कृषि विभाग है. वर्ष 2008 एवं 2012 में उनके नेतृत्व में कृषि रोड मैप लाया गया. जिससे बिहार के किसानों की आमदनी बढ़ी.

इसी का नतीजा हुआ कि भारत सरकार द्वारा बिहार सरकार को पांच बार राष्ट्रीय कृषि कर्मण पुरस्कार मिला. इस का श्रेय किसानों को जाता है. एक ओर जहां देश का जवान अपनी जान हथेली पर रखकर देश की सुरक्षा में लगा हुआ रहता है ठीक उसी तरह किसान जो हमारे अन्नदाता हैं, अपनी जान हथेली पर रखकर, अपने खून पसीने से, बाढ़-सुखा-जलवायु परिवर्तन में भी खेतों को सींचते हैं और फसलें उगाते हैं.

आज खेती एक चुनौती बनकर हमारे सामने है. हमारी सरकार बदलते मौसम के साथ खेती कैसे की जाए इसके लिए किसानों को प्रशिक्षण दे रही है. एक दर्जन जिलों में अभी इस तरह के प्रशिक्षण- कार्य चल रहे हैं. अभी दूसरे देश से आए हुए फॉल आर्मी वर्मजो मक्के के दाने को खा जाते हैं, इस समस्या से भी किसान त्रस्त हैं। मौसम के अनुरूप बदलते परिवेश में हमें बदलना होगा. अब खेती के लिए मिट्टी का जांच आवश्यक है इसके लिए हम मिट्टी जांच कर किसान हेल्थ कार्ड मुहैया करा रहे हैं. कारण एक करोड़ 20 लाख किसान का निबंधन कराया गया है और पीटी के माध्यम से उन्हें भुगतान किया जाएगा.

https://youtu.be/3B1CeiC_1LQ

सिंचाई की समस्या से अवगत कराते हुए उन्होंने कहा कि डीजल महंगा हो गया है. हम हर जगह बिजली पहुंचा रहे हैं लेकिन हम सोलर उर्जा के माध्यम से खेती करेंगे. प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि 8 लाख 85 हजार किसानो को इस योजना से जोड़ा जा चूका है। जो कि देश में किसानों की स्थिति में सुधार करने के साथ ही देश में कृषि एवं खाद्य संसाधन को को बेहतर करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण निर्णायक कदम है।

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *