बाबानगरी देवघर में दिखा ज्योतिर्लिंग की पूजा-अर्चना का अद्भुत नजारा।

बाबानगरी देवघर में दिखा ज्योतिर्लिंग की पूजा-अर्चना का अद्भुत नजारा।

आज पुरे देशभर में महाशिवरात्रि का महोत्सव बड़े ही धुमधामधाम से मनाया जा रहा है। हिन्दू पर्व व परम्परा के अनुसार आज ही के दिन माघ मास के कृष्ण चतुर्दशी तिथि को देवों के देव महादेव और हिमपुत्री माता पार्वती परिणय सूत्र में बंधे थे। वर्षों की घोर तपस्या के बाद माँ आदिशक्ति को भगवन शिव अर्थात महादेव प्राप्त हुए थे। सनातन से ऐसी मान्यता चली आ रही है कि इसी दिन से सृष्टि का प्रारम्भ हुआ।

साल में होने वाली 12 शिवरात्रियों में, इस महाशिवरात्रि का सबसे अधिक महत्व है। महाशिवरात्रि का यह पर्व सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पडोसी देशों में भी बड़े उत्साह से मनाया जाता है। भक्त और श्रद्धालुगण बड़े ही उत्साह से मंदिरों, ज्योतिर्लिंगों में महादेव और माता पार्वती की पूजा अर्चना करते हैं। इस दिन श्रद्धालु व्रत भी करते हैं और भगवान शिव से कुशल मंगल की कामना करते हैं। मंदिरों में भक्तों-श्रद्धालुओं की काफी भीड़ उमड़ती है। इसी महोत्सव पर आज के दिन देश के द्वादश ज्योतिर्लिंगों में से एक बाबा बैद्यनाथ धाम की शिवरात्रि की महिमा की बात ही अनन्य है। शीर्ष पर पंचशूल से सुसज्जित इस ज्योतिर्लिंग को बड़े ही अनोखे अंदाज में सजाया जाता है। हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी शिवरात्रि पर बाबानगरी की खूबसूरत छटा देखने को मिली।

देवघर के बाबा बैद्यनाथ मंदिर के ऊपर महाशिवरात्रि के अवसर पर चार्टर्ड प्लेन से पुष्प वर्ष की गयी। इस नज़ारे को देखने के लिए बाबा मंदिर प्रांगण में हज़ारों भक्तों की भीड़ थी। शिवरात्रि महोत्सव समिति द्वारा दो चार्टर्ड प्लेन बाबा मंदिर का परिक्रमा कर फूलों की बारिश कर रहे थे। इस अविस्मरणीय क्षण को हर कोई देख रोमांचित हो रहा था। दोनों प्लेन द्वारा करीब दस मिनट तक बाबा मंदिर के शिखर पर फुल अर्पित किया गया।

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *