बिहार के डीजीपी ने थानाध्यक्षों को लेकर कह दी बड़ी बात, कहा- थाने के संरक्षण से बिकती है शराब

बिहार के डीजीपी ने थानाध्यक्षों को लेकर कह दी बड़ी बात, कहा- थाने के संरक्षण से बिकती है शराब

नेशन भारत, सेंट्रल डेस्क: बिहार सरकार शराबबंदी कानून को लेकर कई बार नियम बनाई लेकिन शराब माफियों के ऊपर इसका कोई असर पड़ता नहीं दिख रहा है. बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय इसको लेकर कई नियम भी बनाए, लेकिन इन नियम का थाना प्रभारियों के ऊपर भी कोई असर पड़ता नहीं दिख रहा है. आपको बता दें कि शराबबंदी का असर पुलिस प्रशासनों पर नहीं दिख रहा है. बिहार में पूर्ण रुप से शराबबंदी की जिम्मेदारी जिनके सिर है वही आए दिन शराब पीते और धंधे में संलिप्त नजर आ रहे हैं.

इसी क्रम में औरंगाबाद समाहरणालय के नगर भवन में शांति सह निगरानी समिति की बैठक में बिहार पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने माना कि थाना के संरक्षण के बिना कोई भी एक बोतल शराब नहीं बेच सकता है. इसके साथ ही डीजीपी ने कहा कि जिस दिन थानेदार, चौकिदार और समाज के हर वर्ग के लोग जाग जाएंगे उसी दिन राज्य में शराब की तस्करी रुक जाएगी और सूबे में पूर्ण रूप से शराबबंदी लागू हो सकेगी.

बैठक को संबोधित करते हुए डीजीपी ने सभी को चेतावनी देते हुए कहा कि जो भी शराब से संबंधित मामले में संलिप्त होंगे वे सीधे जेल भेजे जाएंगे, चाहे वो पुलिस वाला हो या आम आदमी.

इसके साथ ही डीजीपी ने सभी सदस्यों को उनके कर्तव्य बताते हुए कहा कि आपके जिम्मे दो काम है. गांव-समाज को नशामुक्त बनाना और दूसरा गांव में ही छोटे-मोटे विवादों को सुलझाना. इसके साथ ही डीजीपी ने कहा कि समाज से मजहब, संप्रदाय, जात और पात का भेदभाव समाप्त होना चाहिए. नौजवान समाज में शांति और सद्भाव कायम करने में अपना योगदान दें.

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *