• April 14, 2021
  • Last Update April 13, 2021 6:04 pm
  • India

एक खिलाड़ी सब पर भारी

एक खिलाड़ी सब पर भारी
diego maradona

एक खिलाड़ी सब पर भारी यह यह शीर्षक एक ही शख्स को दिया जा सकता है और वह थे अर्जेंटीना के महान फुटबॉलर और कोच डिएगो माराडोना I

दुनिया के महानतम फुटबॉलर ओ में शामिल इस महान खिलाड़ी ने 1986 में अपने दम पर अर्जेंटीना को वर्ल्ड कप का चैंपियन बनाया I सिर्फ 10 साल की उम्र में ही स्थानीय क्लब एस्ट्रोला रोसा ने उन्हें शामिल कर लिया था I 1982 में पहली बार उन्हें वर्ल्ड कप खेलने का मौका मिला और अर्जेंटीना की टीम सेमीफाइनल तक पहुंचीI माराडोना बोका जूनियर्स, नपोली और बार्सिलोना के लिए क्लब फुटबॉल खेल चुके हैं। अर्जेंटीना की ओर से खेलते हुए माराडोना ने 91 मैचों में 34 गोल किए। अर्जेंटीना की ओर से माराडोना ने चार वर्ल्ड कप में हिस्सा लिया।

1986 का वर्ल्ड कप माराडोना का ही वर्ल्ड कप कहा जा सकता है I पहली बार उन्होंने अर्जेंटीना के टीम को वर्ल्ड चैंपियन बनाया और और इस टूर्नामेंट में उन्होंने पांच गोल भी किए और टूर्नामेंट के गोल्डन बॉल अवार्ड जीता I फुटबॉल के इतिहास में पेले, भाभा, डी डी, और गरीनचा के अलावा अगर कोई शख्स को हम फुटबॉल जीनियस कह सकते हैं तो वह थे डियागो माराडोना I

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *