हाईटेक बस तैयार हुआ, अत्यंत पिछड़ा शिकार हुआ – नीरज

हाईटेक बस तैयार हुआ, अत्यंत पिछड़ा शिकार हुआ – नीरज

नेशन भारत, सेंट्रल डेस्क: बिहार सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार ने आज पटना स्थित अपने सरकारी आवास पर संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर तेजस्वी यादव की प्रस्तावित यात्रा को लेकर दस्तावेज प्रस्तुत करते हुए कई सनसनीखेज खुलासे किए. नीरज कुमार ने सीधे तेजस्वी यादव से प्रश्न करते हुए कहा कि आप तो राजनीति के नए जमींदार हैं, सजायाफ्ता लालू प्रसाद के दागी सुपुत्र हैं क्या आपने हम नहीं सुधरेंगे की कसम खाई है? आपकी नियति हो चुकी है, माल महाराज का और मिर्जा खेले होली को चरितार्थ करते रहने की.


तेजस्वी की बेरोजगारी हटाओ यात्रा को मंत्री नीरज ने शाही यात्रा करार देते हुए कहा आपके पिता तो राजनीति में जमीन के सौदागर थे इस कड़ी को हाईटेक करते हुए आपने पारिवारिक बेनामी संपत्ति शृंखला में नई तकनीक विकसित कर अपनी शाही यात्रा की शाही सवारी के लिए एक अत्यंत पिछड़ा वर्ग के व्यक्ति को जालसाजी के मकडज़ाल में उलझा दिया.

नीरज कुमार ने सरकारी दस्तावेजों के साथ खुलासा करते हुए बताया कि तेजस्वी यादव की शाही यात्रा के लिए 10 सर्कुलर रोड में खड़ी शाही सवारी हाईटेक बस जिसका मॉडल नंबर – BENZ 917 BSIV BUS11 जो कि 29 नंबर 2019 को परिवहन विभाग में पंजीकृत किया गया है जिसका नंबर BR 01PK 7187 है जो कि बख्तियारपुर प्रखंड के हिदायतपुर ग्राम के अत्यंत पिछड़ा समुदाय के एक निर्धन व्यक्ति मंगल पाल पिता – नेती पाल के नाम से पंजीकृत है जो बीपीएल कार्ड धारक हैं, गरीबी रेखा के नीचे जीवन बसर करते हैं.

प्रखंड विकास पदाधिकारी, बख्तियारपुर और उप विकास आयुक्त, पटना के द्वारा 20.02.2008 को अनुमोदित बीपीएल सूची में इनका क्रमांक 210 है जिसका यूनिक नंबर- 19451 है, इससे इनकी आर्थिक स्थिति का बेहतर अंदाजा लगा सकते हैं. दिलचस्प यह है कि परिवहन विभाग में बस मालिक के नाम से दर्ज मोबाइल नंबर 7258065449 राजद के दबंग प्रवृत्ति के पूर्व विधायक अनिरुद्ध यादव का है और आज की तारीख में भी यह मोबाइल नंबर अनिरुद्ध यादव ही इस्तेमाल करते हैं.

तेजस्वी यादव से हमारा सवाल है कि बताईए यह कैसा गोरखधंधा है, इनसे आपका क्या संबंध है और आपकी इनसे क्या डील हुई है? अत्यंत पिछड़ा वर्ग के गरीब के नाम से हाईटेक बस कैसे आया अपनी जालसाजी में इसे क्यों फँसाया ? बस मालिक मंगल पाल के नाम से परिवहन विभाग में दर्ज मोबाइल नंबर आपके दबंग पूर्व विधायक का क्यों ? क्या राज्यसभा और विधान परिषद के प्रस्तावित चुनाव में टिकट बेचने की डील तो नहीं , क्योंकि विगत में आपपर ऐसे आरोप लगते रहे हैं. जवाब अवश्य दीजिएगा अन्यथा आरोप स्वतः प्रमाणित माना जाएगा क्योंकि मौनम स्वीकार लक्षणम्.

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *