पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने दिया निर्देश, कहा- योजनाओं का कार्यान्वयन ससमय किया जाए

पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने दिया निर्देश, कहा- योजनाओं का कार्यान्वयन ससमय किया जाए

नेशन भारत, सेंट्रल डेस्क: बिहार के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने प्रशासनिक स्वीकृति के बाद निविदा निष्पादन की कार्रवाई एक निश्चित समय के भीतर पूर्ण कराने का अधिकारियों को निर्देश दिया है ताकि योजनाओं का कार्यान्वयन ससमय सुनिश्चित किया जा सके.


श्री यादव ने विभागीय समीक्षा बैठक के बाद आज बताया कि वर्ष 2019-20 में राज्य के 27 जिले में 1083.77 किमी लम्बाई वाले 139 पथों के उन्नयन व चौड़ीकरण के लिए 1903.30 करोड़ की स्वीकृति प्रदान की गयी है जिसमें 94 नव अधिगृहित पथ शामिल है. नव अधिगृहित पथों की लम्बाई 655.50 किमी एवं लागत 1103.87 करोड़ है. उन्होंने बताया कि 2019-20 में 264.43 करोड़ की लागत से 3 अदद आरओबी सहित कुल 25 पुल-पुलियों के निर्माण की स्वीकृति प्रदान की गयी है.

इसके अलावा 54 अदद आरओबी के निर्माण के लिए रेलवे से कन्सेप्ट प्लान एवं जीएडी अनुमोदन प्राप्त कर शीघ्र इसकी स्वीकृति की कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया. ओपीआरएमसी फेज-2 के अंतर्गत 1456 किमी लंबाई में सामयिक संधारण का कार्य किया जा चुका है और इस साल जून तक 6000 किमी में पीरियोडिक मेंटेनेन्स का कार्य कराने का निर्देश दिया गया है.


श्री यादव ने बताया कि वर्ष 2019-20 में नाबार्ड से 855.37 करोड़ की लागत से कुल 19 योजनाओं के 424 किमी पथ निर्माण की स्वीकृति दी गयी है. इन योजनाओं को ससमय कार्यान्वित करने के लिए अधिकारियों से अपेक्षित कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया. श्री यादव ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि सड़कों का सतत् एवं उत्कृष्ट संधारण सरकार का लक्ष्य है.

स्थापित व्यवस्था को और भी सुदृढ़ कर सड़कें हर समय उत्कृष्ट तौर पर संधारित रहें. उन्होंने राजधानी पटना में पर्याप्त संख्या में साइनेज व गैनेट्री लगाने का निर्देश दिया है. इसके साथ ही पटना नगर निगम के बाहर के क्षेत्र के आरओबी पर भी लाइटिंग की समुचित व्यवस्था कराये जाने का निर्देश दिया है.


श्री यादव ने कहा कि सड़कों का सतत् एवं उत्कृष्ट संधारण सरकार का लक्ष्य है. स्थापित व्यवस्था को और सुदृढ़ कर पथ हर समय उत्कृष्ट तौर पर संधारित रहें यह सुनिश्चित किया जाय. साथ ही पटना शहर में पर्याप्त संख्या में साईनेज, गैनेटरी इत्यादि लगाया जाय.

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *