22 दिनों के बाद रूपेश हत्याकांड का खुलासा – रोडरेज के कारण बाइक चोर ऋतुराज ने हत्या की-पटना पुलिस

22 दिनों के बाद रूपेश हत्याकांड का खुलासा – रोडरेज के कारण बाइक चोर ऋतुराज ने हत्या की-पटना पुलिस

इंडिया सिटी लाइव 3 फरवरी : पटना के बहुचर्चित रुपेश सिंह हत्याकांड में पुलिस ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर खुलासा किया है. पुलिस ने कहा कि 12 जनवरी को रूपेश सिंह का मर्डर हुआ था. पुलिस ने कहा कि इस मामले में उसने एक आरोपी को गिरफ्तार किया और उन्हें घटनास्थल से पांच खाली खोखा की बरामद हुआ था. घटना की जांच के लिए SIT के अलावा पटना पुलिस की दो टीम और STF गया जांच कर रही है. अधिकारी ने कहा कि 50 से ज्यादा लोगों से अनुसंधान के क्रम में पुलिस ने पूछताछ की है.

पटना एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने पीसी में कहा कि सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर जांच की जा रही थी. वहीं, ठेकेदारी को लेकर हुए मर्डर से पुलिस अधीक्षक ने साफ इंकार कर दिया है. उन्होंने कहा कि ठेकेदारी का विवाद नही था. शर्मा ने कहा कि घटना के दिन से ही पुलिस की हिस्ट्री शीटर्स पर नजर थी. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अपराधी वारदात को अंजाम देने के लिए पल्सर और अपाचे बाइक से आए थे.

पटना के एसएसपी ने इस मर्डर मिस्ट्री का खुलासा करते हुए बताया कि रूपेश सिंह की हत्या रोडरेज के कारण हुई थी. एसएसपी उपेंद्र शर्मा के मुताबिक पटना के रहने वाले चार अपराधियों ने ही मिलकर इस घटना को अंजाम दिया था. पुलिस ने लंबे अनुसंधान के बाद घटना को अंजाम देने वाले एक आरोपी को पटना से ही गिरफ्तार किया है.

पुलिस को उसके पास से घटना में प्रयुक्त हथियार, गोली, बाइक के अलावा अन्य सामान भी मिले हैं. रूपेश हत्याकांड में पकड़े गए आरोपी का नाम रितु राज है जो मूल रूप से धनरूआ का रहने वाला है और उसका ननिहाल जहानाबाद का घोसी है. पुलिस के मुताबिक रोडरेज की घटना में ही चार लोगों की संख्या में रहे बाइक सवार अपराधियों ने इस घटना को अंजाम दिया था.

घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी लगातार लोकेशन बदल रहे थे जिसमें से एक रांची से आने के क बाद पुलिस द्वारा पकड़ा गया. घटना को अंजाम देने के बाद ऋतुराज रांची भाग गया था. पुलिस ने काफी सतर्कता से इस मामले की अनुसंधान की जिसके बाद हाई प्रोफाइल दिख रहा है यह मामला रोडरेज में तब्दील हो गया.

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *