तेजस्वी यादव के अनुसार रोजगार का मुद्दा आने वाले चुनाव में होगा अहम

112

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

बिहार में आगामी दिनों में लोकसभा का चुनाव होने वाला है। ऐसे में राज्य की सबसे बड़ी पार्टी अपनी चुनावी रणनीति को धार देने में जुटी हुई है। यही वजह है कि राजद इस बार रोजगार को मुद्दा बनाकर चुनावी मैदान में आने का विचार कर रही है। ऐसे में अब इस बात की पुष्टि खुद तेजस्वी यादव ने की है।

तेजस्वी यादव ने कहा कि – 2025 तक महागठबंधन सरकार 10 लाख लोगों को रोजगार देगी। जबकि ढाई साल में 5 लाख लोगों को रोजगार दिया जाएगा।  उन्होंने कहा कि हमारी सरकार भूमिहीनों और गरीब परिवारों को दो लाख की सहायता देगी। बिहार सरकार अपने बलबूते सभी काम कर रही है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग रोजगार के नाम पर जुमलेबाजी कर रहे हैं।

- Sponsored -

- Sponsored -

तेजस्वी ने जातीय गणना और आरक्षण की नयी व्यवस्था का जिक्र किया और कहा कि समाज के गरीब और उपेक्षा के शिकार लोगों को आगे बढ़ाने की आवश्यकता है। विशेष राज्य का दर्जा मिलने पर इसमें तेजी आने का कार्य पूर्ण होगा। आरक्षण व्यवस्था को संविधान की 9 वीं सूची में शामिल करने का प्रस्ताव केंद्र को भेजा गया है, अब गेंद उनके पाले में हैं। देखना है केंद्र व भाजपा आगे क्या करती है।

इससे पहले मुजफ्फरपुर में भी तेजस्वी ने कहा था कि बिहार आरक्षण बढ़ाने वाला देश का पहला राज्य है। हमने देश को दिशा दिखायी है। अब पूरे देश में जातीय जनगणना कराने की मांग होने लगी है।साथ ही साथ ये एक नए रूप में देख को विकास के पथ पर अग्रसर करेगा

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More