भगवान महावीर जन्मोत्सव के अवसर पर जैन धर्मावलंबियों ने निकाली भव्य शोभायात्रा

0 380

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

भगवान महावीर जन्मोत्सव के अवसर पर जैन धर्मावलंबियों ने निकाली भव्य शोभायात्रा

- Sponsored -

- Sponsored -

आरा। श्री महावीर जयंती समारोह समिति, आरा के तत्वावधान में चार दिवसीय जन्मकल्याणक महोत्सव बड़े ही धूमधाम से मनाया गया. प्रातःबेला में प्रभातफेरी निकाली गयी जिसमें छोटे-छोटे बच्चों के साथ बड़े भी शामिल हुये. प्रभातफेरी में बच्चें हाथों में जैन ध्वज लहराते हुये जयकारा लगा रहे थे. वहीं युवा जैन अनुयायियों के घर-घर जाकर लोगों को भगवान महावीर का सन्देश, जैन ध्वज एवं मिष्ठान वितरण कर पहुँचाया. सुबह करीब 9 बजे श्री शांतिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर प्रांगण से जैन धर्मावलंबियों ने भव्य शोभायात्रा निकाली. इसबार शोभायात्रा में शामिल होने वाले भक्त विशेष परिधान में नज़र आये, पुरुष कुर्ता-पैजामे एवं साफे में तो वहीं महिलाएं केशरिया साड़ी थी. चिलचिलाती धूप में भी लोगों का उत्साह चरम था. शोभायात्रा में कई विद्यालय के बच्चें भी शामिल थे. जिनेन्द्र प्रभु की शोभायात्रा के लिए रथ को फूलों से सजाया गया था जिसपर तीर्थंकर महावीर को लेकर सौधर्म-इंद्र-इंद्राणी मोनिका-आशीष जैन थे. साथ में प्रथम इंद्र दीपू जैन, द्वितीय इंद्र मोहित जैन एवं कुबेर रीना-अतुल जैन विराजमान थे. ऊँठ-घोड़ा, पालकी, बैण्ड-बाजा के साथ शोभायात्रा शहर के गोपाली चौक, जेल रोड, शिवगंज, हॉस्पिटल रोड, महादेवा रोड, चित्र टोली रोड होते हुये जैन स्कूल पहुँची वहां पर जैन स्कूल के मध्य विद्यालय एवं उच्च विद्यालय के शिक्षकों ने शोभायात्रा का स्वागत किया. वहीं पांडुकशिला पर तीर्थंकर महावीर को विराजमान कर डॉ शशांक जैन के निर्देशन में विभिन्न रसों से पंचामृत अभिषेक, पूजन एवं शांतिधारा एवं मंगल आरती हुई. शोभायात्रा के मध्य में अनेकों समाजसेवी एवं संस्थाओं के द्वारा शोभायात्रा का स्वागत शीतल पेय जल, कोल्ड्रिंक, एवं फल वितरण कर किया गया. जिनेन्द्र प्रभु की भक्तों द्वारा जगह-जगह पर पुष्प-वृष्टि, आरती एवं भक्ति की गयी. पूजन के समापन पर सामुहिक वात्सल्य (भोजन) की व्यवस्था जिनेंद्र भक्त के द्वारा था जिसे सभी ने प्रसाद स्वरूप ग्रहण किया. संध्याकालीन समय में सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ आम सभा हुआ. जिसमें मुख्य अतिथि बिहार विधान परिषद के सभापति अवधेश नारायण सिंह थे. उन्होंने भगवान महावीर के सिद्धांतों पर विस्तृत चर्चा किये. उनके मार्गदर्शन पर चलने के लिए सभी प्रेरित किये उन्होंने कहा कि भगवान महावीर सिर्फ जैन की ही नहीं, बल्की समस्त विश्व के उनके सिद्धान्तों पर चलकर ही विश्व में शांति, अमन एवं भाईचारा स्थापित हो सकता. सांस्कृतिक कार्यक्रम में विभिन्न विद्यालयों के बच्चों के प्रस्तुति के साथ-साथ समाज के युवक-युवतियों एवं महिलाओं ने भी एक से बढ़कर एक अनेकों प्रस्तुति दिया. जिसमें भजन, भाव नृत्य, कव्वाली, इत्यादि शामिल है. चार दिवसीय कार्यक्रम में श्रेष्ठ प्रस्तुति देने वाले प्रतिभागियों को समिति ने पुरस्कृत किये. समिति के सचिव डॉ आदित्य बिजय जैन ने बताया कि वैश्विक महामारी एवं सरकार द्वारा निर्देशित नियमों को पालन करने की वजह से विगत दो वर्ष से समिति ने आयोजन को स्थगित रखा गया था. इसबार महावीर जन्मोत्सव बड़े ही धूम-धाम से मनाया गया, सभी ने बहुत सहयोग किया. आयोजन को सफल बनाने में समिति के अध्यक्ष डॉ जया जैन, उपाध्यक्ष डॉ विकास चन्द्र जैन, अखिलेश कुमार जैन, संयुक्त सचिव निलेश कुमार जैन, सुनील चन्द्र जैन, कोषाध्यक्ष बिभु जैन के साथ सभी कार्यक्रम संयोजक एवं युवक-युवतियों का भरपूर सहयोग रहा. इस आशय की जानकारी आरा जैन समाज के मीडिया प्रभारी निलेश कुमार जैन ने दी.

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More