बिहार में सुरक्षित भोजन परोसें परियोजना का शुभारंभ

270

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

बिहार में सुरक्षित भोजन परोसें परियोजना का शुभारंभ
आज दिननांक 07/12/2023 को बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन, पटना के सभागार मे नासवी के द्वारा बिहार सरकार एवं नेसले इंडिया के सहयोग से “स्ट्रीट फूड वेंडर्स के लिए सुरक्षित भोजन परोसें परियोजना का शुभारंभ”किया गया । इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बिहार सरकार के खाद्य सुरक्षा के नोडल पदाधिकारी श्री सुरेन्द्र रॉय और स्वास्थ्य विभाग के अवर सचिव श्री रविन्द्र नाथ पांडे जी थे अन्य अतिथि नासवी के राष्ट्रीय समन्वयक श्री अरविन्द सिंह, खाद्य सुरक्षा पदाधिकारी मुकेश कश्यप, अजय कुमार, संजय कुमार और नेसले से श्री संजीब सिंह और सुरोजीत मुखर्जी थे Iइस कार्यक्रम में फूड स्ट्रीट वेंडर्स स्किल्स ट्रेनिंग के दौरन विभिन्न बातों पर चर्चा हुई जैसे खाद्य स्वच्छता, गुणवत्ता और खाद्य सुरक्षा इत्यादि निमन्न बिंदुओ पर लगभग 76 फ़ूड वेंडर को प्रशिक्षण नासवी के प्रशिक्षक रौशन कुमार चौधरी के द्वारा दिया गया और इस कार्यक्रम के तहत बिहार के 8 जिले में 3000 फ़ूड वेंडर को प्रशिक्षित किया जाएगा ।

•नेस्ले इंडिया में सुरक्षित भोजन के प्रति हमारी प्रतिबद्धता हमारे अपने उत्पादों की सुरक्षा और गुणवत्ता से परे है, हम पारिस्थिति की तंत्र में सुरक्षा और स्वच्छता की आवश्यकता के बारे में भी जागरूक हैं।
• इसे ध्यान में रखते हुए हमने स्ट्रीट फूड विक्रेताओं को “खाद्य सुरक्षा” और “स्वच्छता” पर प्रशिक्षण देने की आवश्यकता महसूस की, जो न केवल उपभोक्ताओं के लिए स्वस्थ भोजन सुनिश्चित करेगा वल्कि स्ट्रीट फूड विक्रेताओं को अपनी आजीविका को बनाए रखने और बेहतर बनाने में भी सक्षम बनाएगा। 2016 में हमने स्ट्रीट फूड विक्रेताओं को उचित प्रशिक्षण सुनिश्चित करने के लिए NASVI (नेशनल एसोसिएशन स्ट्रीट वेंडर ऑफ इंडिया) और स्थानीय खाद्य अधिकारियों के साथ हाथ मिलाया।
• प्रशिक्षित विक्रेताओं को FSSAI वेबसाइट से प्रशिक्षण के बाद FoSTaC प्रमाणपत्र दिए जाएंगे।
• ये प्रशिक्षण संबंधित राज्य सरकार के खाद्य सुरक्षा विभाग के सक्षम समर्थन और मार्गदर्शन से किए जाते हैं।
• यह उनके कौशल और प्रथाओं को उन्नत करके उनकी आय में सुधार करने, खाद्य सुरक्षा और स्वच्छता के मानकों को बढ़ाने के महत्व पर बढ़ती जागरूकता के साथ नई बाजार स्थितियों में उनकी आजीविका को बनाए रखने में मदद करता है।
• इस कार्यक्रम में निम्नलिखित पर प्रशिक्षण मॉड्यूल हैं:
o स्वास्थ्य और स्वच्छता जिसमें व्यक्तिगत स्वच्छता और कार्ट स्वच्छता शामिल है
o खाद्य प्रबंधन और खाद्य सुरक्षा
o सफाई एवं कीट नियंत्रण
o अपशिष्ट प्रबंधन – कचरा निपटान

- sponsored -

- sponsored -

- Sponsored -

हमने हाल ही में कोविड-19 सुरक्षा उपायों और स्ट्रीट फूड विक्रेताओं के लिए डिजिटल भुगतान कैसे स्वीकार करें, इस पर मॉड्यूल जोड़ा है।

• अब तक, हमने उड़ीसा, जम्मू-कश्मीर, गुजरात, तमिलनाडु, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, केरल, दिल्ली, गोवा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना, कर्नाटक, ओडिशा सहित कुल 21 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में प्रोजेक्ट सर्व सेफ फूड संचालित किया है। , बिहार, मेघालय, त्रिपुरा, पुडुचेरी, असम, अंडमान, हरियाणा, पंजाब और झारखंड ~41,000 स्ट्रीट फूड विक्रेताओं को प्रशिक्षण प्रदान करते हैं, जिन्हें प्रशिक्षण के बाद एक प्रमाण पत्र और एक स्वच्छता किट प्राप्त होती है। प्रशिक्षण के बाद व्यवहारिक परिवर्तन बहुत उत्साहजनक रहा है।

• हमने खाद्य सुरक्षा प्राधिकरण, बिहार, पटना नगर निगमऔर नेस्ले इंडिया लिमिटेड के सक्षम सहयोग से बिहार राज्य (पटना, मुजफ्फरपुर, नालन्दा, बिहारशरीफ,पूर्णिया, कटिहार और गया) में 3000स्ट्रीट फूड विक्रेताओं के साथ प्रशिक्षण आयोजित किया गया ।
अंत मे सभा मे उपस्थित सभी अतिथियों और प्रतिभागी का धन्यवाद ज्ञापन नासवी के कार्यक्रम प्रबंधक श्याम शंकर दीपक के द्वारा किया गया ।

 

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More