बक्सर पंहुचे विधानसभा अध्यक्ष किऐ धार्मिक स्थलों के दर्शन… बच्चों को बताया लोकतंत्र की प्रक्रिया.. अधिकारियों के साथ होगी बैठक…

0 129

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

बक्सर पंहुचे विधानसभा अध्यक्ष

किऐ धार्मिक स्थलों के दर्शन…

बच्चों को बताया लोकतंत्र की प्रक्रिया..

अधिकारियों के साथ होगी बैठक…

- Sponsored -

- Sponsored -

बक्सर से कपीन्द्र किशोर की रिपोर्ट..

19/4/2022

 

जिलामुख्यालय बक्सर सोमवार की रात पहुंचे विधानसभा अध्यक्ष ने सुबह नाथ बाबा मंदिर नौलखा मंदिर, सीताराम विवाह आश्रम में दर्शन के उपरांत पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि वह बाल युवा संसद कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बक्सर पहुंचे हैं. इसके साथ ही सांस्कृतिक विरासत का दर्शन भी कर रहे हैं..
उन्होंने कहा कि बक्सर आध्यात्मिक के साथ ऐतिहासिक दृष्टिकोण से भी महत्वपूर्ण स्थल रहा है. इसे तपोभूमि भी कहा गया है ऐसे में निश्चय ही इस धरा की महत्ता से सभी को खासकर युवा पीढ़ी को अवगत होना ही चाहिए. उन्होंने आध्यात्मिक नगरी के विकास के बारे में पूछे जाने पर कहा कि वक्त विकास की ओर कदम बढ़ाता है. अयोध्या से लेकर काशी तक आज विकास की धारा स्पष्ट बहती हुई दिखाई दे रही है. निश्चय ही बक्सर में भी विकास होगा. उन्होंने कहा कि सृष्टि ही भक्ति, भक्ति ही सेवा और सेवा ही मुक्ति है. यह भाव यदि किसी भी व्यक्ति के अंदर आ जाए तो विकास कभी नहीं रुकेगा..
बता दें कि विधानसभा अध्यक्ष अपने बक्सर आगमन के दौरान जहां मंदिरों में दर्शन कर अपने दिन की शुरुआत की वहीं अब  चौसा के ऐतिहासिक स्थल का निरीक्षण निकल गए. बाद में वह जिला मुख्यालय पहुंच नगर भवन में बाल संसद में भाग लेंगे. कार्यक्रम का उद्घाटन दीप प्रज्वलन तथा राष्ट्रगान से किया जाएगा, इसके बाद अध्यक्ष युवा संसद में मौजूद बच्चों को संबोधित करेंगे. इस दौरान एलईडी पर लघु फिल्मों का प्रसारण के साथ-साथ बिहार विधानसभा भवन शताब्दी वर्ष 2021 से संबंधित एक लघु फिल्म का प्रसारण भी किया जाएगा.

वाद-विवाद कार्यक्रम बिहार विधानसभा भवन शताब्दी वर्ष एवं भारत अमृत महोत्सव पर युवा संवाद कार्यक्रम में युग के वाहक युवाओं के संवैधानिक अधिकार और कर्तव्य विषय पर वाद-विवाद और पुरस्कार वितरण सामाजिक नैतिक संकल्प अभियान से संबंधित लघु फिल्म का प्रसारण एवं अध्यक्ष के द्वारा सामाजिक नैतिक संकल्प अभियान के तहत सभागार में उपस्थित जनप्रतिनिधियों पदाधिकारियों एवं बच्चों को नैतिक संकल्प दिलाया जाएगा. बाद में अध्यक्ष समापन संबोधन एवं राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम के समापन की घोषणा करेंगे.
इसके बाद दिन समाहरणालय सभागार में जिला के प्रशासनिक पदाधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के साथ विशेषाधिकार और सौजन्यता प्रदर्शन एवं समाज में संवैधानिक कर्तव्य के प्रति जागरूकता के लिए आयोजित बैठक में शामिल होंगे. दोपहर 3:30 से शाम 5:30 तक जिला समाहरणालय के सभागार में सामाजिक नैतिक संकल्प अभियान पर बुद्धिजीवियों के साथ विमर्श का कार्यक्रम आयोजित है.

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More