CORONA UPDATE M: बिहार में कोरोना की रफ्तार एक बार फिर से बढ़ने लगी है-मरीज मिलने पर घर के बाहर लगेगा स्टीकर

0 1
- Sponsored -

- Sponsored -

इंडिया सिटी लाइव (पटना)17 MARCH : पिछले 24 घंटे में आंकड़ों में दोगुने वृद्धि देखने को मिले हैं. स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक 24 घंटे में 49 लोगों में कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई है, जिसमें सबसे ज्यादा पटना में 15 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं जबकि बेगूसराय, भागलपुर और गया में 5-5 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं. इसके साथ ही राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 346 पहुंच गई है.

राज्य में सैम्पल जांच की संख्या भी बढ़ा दी गई है. मंगलवार की रिपोर्ट के मुताबिक एक दिन में कुल 40592 लोगों की कोरोना जांच हुई है. स्वास्थ्य विभाग तेजी से तैयारियों को मुकम्मल करने में जुट गया है वहीं सभी जिले के डीएम को आइसोलेशन सेंटर भी तैयार करने को कहा गया है जबकि सभी जिलों के रेलवे स्टेशनों,बस स्टॉप और जहां भी एयरपोर्ट है वहां मेडिकल टीम तैनात कर दी गई है जो कि बाहर से आनेवाले यात्रियों की कोरोना जांच में जुट गई है.

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सभी तरह के समारोह पर भी ब्रेक लग गई है तो होली मिलन समारोह की भी अब अनुमति नहीं है. पटना जिला प्रशासन की मानें तो निजी स्तर पर छोटे पब्लिक कार्यक्रम यानि घर में करने पर रोक नहीं है पर इसके लिए भी अनुमति लेनी होगी. जिला प्रशासन के स्तर से बड़े सार्वजनिक कार्यक्रम के लिए जल्द अनुमति नहीं मिलेगी. डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि पटना में कई जगहों पर आइसोलेशन सेंटर एक्टिव कर दिया गया है जो कि पाटलिपुत्र अशोका होटल और सगुना मोड़ स्थित राधे-कृष्ण आश्रम को कोविड केयर सेंटर के रूप में चालू किया गया है.

पाटलिपुत्र होटल अशोक में 165 बेड और राधे-कृष्ण आश्रम में 50 बेड उपलब्ध है वहीं जिले के बाढ़, मसौढ़ी, पालीगंज समेत चार अनुमंडल में 100-100 बेड का कोविड केयर सेंटर चालू किया गया है जहां 24 घंटे कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गयी है. जिले में होम आइसोलेशन में रहने वाले कोरोना पॉजिटिव मरीजों के घर के बाहर स्टीकर लगेगा और इसकी निगरानी और स्टीकर लगाने के लिए आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को जिम्मेवारी दी गयी है. इसका उद्देश्य लोगों को जागरूक करना है.
मालूम हो कि महाराष्ट्र और गुजरात, मध्य प्रदेश के कई शहरों में नाइट कर्फ्यू लगा दिए गए हैं. इस बीच, केंद्र सरकार ने कहा है कि लॉकडाउन, नाइट कर्फ्यू या वीकेंड लॉकडाउन से बहुत ज्यादा लाभ नहीं होने वाला है. केंद्र ने महाराष्ट्र सरकार को एक चिट्‌ठी भी लिखी है जिसमें कहा है कि संक्रमण की रफ्तार रोकने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जो दिशा-निर्देश दिए गए हैं, उन पर सख्ती से काम करें, तभी इस पर काबू पाया जा सकता है. चिट्‌ठी में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने लिखा है कि महाराष्ट्र में संक्रमण के दूसरी लहर की शुरुआत है. कठोरता से कंटेनमेंट के तौर-तरीकों का पालन करना होगा.

Looks like you have blocked notifications!
- Sponsored -

- Sponsored -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More