गरीब असहाय बच्चों को फ्री एजुकेशन देगी महिला विकास मंच

0 25
- Sponsored -

- Sponsored -

कोविड संक्रमण के दौर में बदलती वैश्विक परिस्थितियों के बीच अध्ययन अध्यापन के लिए डिजिटल शिक्षा सशक्त माध्यम साबित हुआ है।
24 जुलाई को पटना के कासा पिकोला होटल में महिला विकास मंच के तहत डिजिटल एजुकेशन मिशन का उद्घाटन करते हुए पी के चौधरी ने कही।
उन्होंने आगे कहा की डिजिटल शिक्षा बच्चों के शिक्षण प्रशिक्षण के दिशा में काफी प्रभावी माध्यम साबित हो रहा है। कोविड के प्रभाव से गरीब असहाय बच्चों को काफी परेशानियो का सामना करना पर रहा है।
कोविड के बीच हमे अपने भावी पीढ़ी को सुरक्षित व शिक्षित रखना एक बड़ी चुनौती है और इसके लिए हमे एजुकेश के डिजिटल माध्यम का सहारा लेना ही पड़ेगा । इसके सहयोग से हम अपने बच्चों के के शिक्षण और प्रशिक्षण के साथ साथ उनके स्वास्थ्य एवम सुरक्षा को भी सुनिश्चित कर सकते हैं। उक्त तमाम बातों को ध्यान में रखते हुए महिला विकास मंच ने डिजिटल एजुकेशन मिशन के तहत गरीब असहाय बच्चों के पढ़ाई की जिम्मेदारी ली है।

इन तमाम सिस्टम को मैनेज करने वाले अन्फ़ोल्ड यू के एम डी सौरव कुमार का कहना है लो इनकम कम्युनिटी के तहत आने वाले तमाम परिवार के बच्चों को इस डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से क्वालिटी वाली पढ़ाई मुहैया कराई जाएगी। हमारा मकसद अगली पीढ़ी गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा को मुहैया करवाना।
गौरतलब है इस इस मिशन को कुछ दिनों पहले माननीय उप मुख्यमंत्री श्री तारकिशोर प्रसाद द्वारा सुभारम्भ किया गया था एवम सराहा गया था।
बिहार के शिक्षा मंत्री श्री विजय कुमार चौधरी ने भी एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि इस मिशन के तहत अगर बिहार सरकार और संगठन मिल के काम करे तो प्रदेश के शिक्षा प्रणाली को और बेहतर किया जा सकता है। प्रेस वार्ता को महिला विकास मंच के अभिवावक पीके चौधरी महिला विकास मंच की राष्ट्रीय अरुणिमा डिजिटल एजुकेशन मिशन के एमडी सौरभ कुमार व महिला विकास मंच की मधुबनी जिला अध्यक्ष शिखा ने संबोधित किया

Looks like you have blocked notifications!
- Sponsored -

- Sponsored -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More