गुजरात बना 100% जिला मुख्यालयों में जियो TRUE-5G सेवाएँ देने वाला भारत का पहला राज्य

0 53

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

गुजरात बना 100% जिला मुख्यालयों में जियो TRUE-5G सेवाएँ देने वाला भारत का पहला राज्य

– रिलायंस की जन्मभूमि गुजरात आज से सभी 33 जिला मुख्यालयों में से प्रत्येक में Jio True 5G देने वाला भारत का पहला राज्य बना।
– ‘Jio वेलकम ऑफर’ के तहत यूजर्स को बिना किसी अतिरिक्त कीमत के 1 Gbps+ स्पीड के साथ अनलिमिटेड 5G डेटा
– Jio शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा, कृषि, उद्योग और IOT के लिए एक ट्रू 5G संचालित पहलों की श्रृंखला शुरू करेगा।
– सबसे पहले ‘एजुकेशन-फॉर-ऑल’ पहल के लिए रिलायंस फाउंडेशन और जियो एक साथ आए हैं, जिसके तहत शुरुआत में गुजरात के 100 स्कूलों को कनेक्टिविटी और एजुकेशन प्लेटफॉर्म के साथ डिजिटाइज किया जाएगा।

मुंबई, 25 नवंबर 2022: जियो अपने ट्रू 5जी नेटवर्क को तेजी से रोल आउट कर रहा है। आज, Jio ने गुजरात के 33 जिला मुख्यालयों में से प्रत्येक में अपने True-5G कवरेज का विस्तार करते हुए एक बड़ा कदम आगे बढ़ाया है। इसके साथ ही गुजरात 100% जिला मुख्यालयों में Jio True 5G कवरेज देने वाला भारत का पहला राज्य बन गया है।

गुजरात का एक विशेष स्थान है, क्योंकि यह रिलायंस की जन्मभूमि है। यह घोषणा गुजरात और उसके लोगों के लिए रिलायंस का समर्पण भाव दर्शाती है। एक मॉडल राज्य के रूप में, Jio गुजरात में शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल, कृषि, उद्योग और IOT क्षेत्रों में ट्रू 5G-संचालित पहलों की एक श्रृंखला शुरू करेगा और फिर पूरे देश में इसका विस्तार करेगा।

गुजरात में यह शुभारंभ ‘एजुकेशन-फॉर-ऑल’ नामक एक महत्वपूर्ण ट्रू 5जी-संचालित पहल के साथ होगा। रिलायंस फाउंडेशन और जियो गुजरात के 100 स्कूलों को शुरू में डिजिटाइज करने के लिए एक साथ आ रहे हैं। इस पहल के अंतर्गत स्कूलों को विशेष सुविधाएं दी जाएंगी जैसे:
1. JioTrue5G कनेक्टिविटी
2. उन्नत सामग्री मंच
3. शिक्षक और छात्र सहयोग मंच
4. स्कूल प्रबंधन मंच
इस तकनीक के बल पर देश भर के लाखों छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के माध्यम से सशक्त किया जाएगा जिससे उन्हें डिजिटल यात्रा में मदद मिलेगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड के चेयरमैन श्री आकाश एम अंबानी ने कहा, “हमें यह बताते हुए गर्व हो रहा है कि गुजरात अब देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है, जिससे प्रत्येक जिला मुख्यालय हमारे मजबूत ट्रू 5जी नेटवर्क से जुड़ गया है। हम इस तकनीक की वास्तविक शक्ति का प्रदर्शन करके बताना चाहते हैं कि कैसे यह एक अरब लोगों के जीवन में सार्थक परिवर्तन ला सकती है ।

हमारे माननीय प्रधान मंत्री के लिए शिक्षा एक फोकस क्षेत्र है। अगले 10-15 वर्षों में शामिल होने वाले 30-40 करोड़ कार्यकुशल भारतीयों की शक्ति की कल्पना करें। यह न केवल प्रत्येक भारतीय को बेहतर जीवन स्तर प्रदान करेगा बल्कि 2047 तक हमारे माननीय प्रधान मंत्री के एक विकसित अर्थव्यवस्था बनने के दृष्टिकोण को साकार करने में भी मदद करेगा।

रिलायंस फाउंडेशन पहले से ही एजुकेशन एंड स्पोर्ट्स फॉर ऑल (ईएसए) नाम से एक कार्यक्रम चलाता है, जहां यह युवाओं को शिक्षा और खेल में अवसरों के साथ जमीनी स्तर पर सक्षम और सशक्त बनाता है। जियो और रिलायंस फाउंडेशन स्कूलों को डिजिटाइज करने वाले प्लेटफॉर्म के साथ शक्तिशाली 5जी-टेक का उपयोग करते हुए ‘एजुकेशन फॉर ऑल’ पहल को एक नए स्तर पर ले जाएगा और उन्हें भारत व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लाएगा।

5G एक विशेष सेवा नहीं रह सकती है जो कुछ विशेष लोगों या हमारे सबसे बड़े शहरों में उपलब्ध हो। यह पूरे भारत में हर नागरिक, हर घर और हर व्यवसाय के लिए उपलब्ध होनी चाहिए। तभी हम अपनी पूरी अर्थव्यवस्था में उत्पादकता, कमाई और जीवन स्तर को ऊपर उठा सकते हैं, जिससे हमारे देश में एक समृद्ध और समावेशी समाज का निर्माण हो सके। यह हमारा निरंतर विश्वास है, जो हमारे “वी केयर” दर्शन से प्रेरित है।”

25 नवंबर से, गुजरात में जियो यूजर्स को जियो वेलकम ऑफर के लिए आमंत्रित किया जाएगा, ताकि वे बिना किसी अतिरिक्त कीमत के 1 जीबीपीएस+ स्पीड पर अनलिमिटेड डेटा का अनुभव कर सकें।

Jio True 5G के तीन ऐसे फायदे हैं जो इसे भारत में एकमात्र TRUE 5G नेटवर्क बनाते हैं:
1. स्टैंड-अलोन 5G आर्किटेक्चर एडवांस्ड 5G नेटवर्क के साथ। 4G नेटवर्क पर शून्य निर्भरता
2. 700 मेगाहर्ट्ज, 3500 मेगाहर्ट्ज और 26 गीगाहर्ट्ज़ बैंड में 5जी स्पेक्ट्रम का सबसे बड़ा और बेहतरीन मिश्रण
3. एक उन्नत तकनीक का उपयोग करके 5G तरंगों को लगातार मूल रूप से एक मजबूत “डेटा हाईवे” में जोड़ती है जिसे कैरियर एग्रीगेशन कहते हैं।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More