लोकआस्था सूर्योपासना का महा पर्व पर छठ वर्तियो ने दी अस्तांचलगामी सूर्य को अर्घ्य

231

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

लोकआस्था सूर्योपासना का महा पर्व पर छठ वर्तियो ने दी अस्तांचलगामी सूर्य को अर्घ्य

- Sponsored -

- Sponsored -

देवघर। लोकआस्था एव सूर्योपासना का महा पर्व आज बुधवार को संध्या परवर्तियों द्वारा अस्तांचल सूर्य को अर्ध्य देने के साथ ही चार दिवसीय छठ पर्व का प्रथम पूजा सम्पन्न सम्पन्न हो गया जबकि इस पर्व का दूसरा और अंतिम पूजा उदयाचल सूर्य के अर्ध्य के साथ गुरुवार की सुवह सूर्य दर्शन के साथ ही छठ पर्व सम्पन्न हो जाएगा। आज छठ व्रतियों ने शहर के डढ़वा नदी के अलावे धर्मिक सरोवर शिवगंगा, नन्दन पहाड़ जलाशय, माथा बांध तालाब के अलावे चमार – डीह के निकट डढ़वा के अलावे अजया नदी के विभिन्न घाटो के अलावे ग्रामीण क्षेत्रों में तालाबो, जलाशयों कुओं आदि स्थानों पर छठ व्रतियों ने अस्तांचल सूर्य को अर्घ्य देकर इस लोक आस्था के महा पर्व को मनाया।इस अवसर पर विभिन्न छठ घाटो पर घाटो का घटा देखते ही बनती थी। डढ़वा घाटो पर झारखण्ड पुलिस एसोसिएशन के जिला ईकाई के जवान छठ व्रतियों के बीच सुप फल, फूल, आदि चढ़ावा की वस्तुएं वितरित करते देखे गए, वही एक महिला पुलिस कोरोना से बचाव को ले मास्क बाटती देखी गयी। नदियों तालाबो आदि स्थानों पर किसी तरह की भगदड़ की सम्भावनाओ या पानी मे डूबने की आशंकाओं के मद्दे नजर जिला प्रशासन ने चाक चौबंद व्यवस्था किया गया। इसके साथ ही इन व्यवस्थाओं पर नजर बनाए हुए थे। अर्घ्य शुरू होते ही उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने डढ़वा नदी घाटो के अलावे अन्य घाटो पर पहुँचकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। इसके साथ ही आरक्षी अधीक्षक धनन्जय कुमार सिंह भी सदल बल के साथ सुरक्षा व्यवस्था के लिए विभिन्न घाटो पर भ्रमण करते देखे गये। इधर घाटो विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा ऐसे सजाया गया था मानो इन घाटो पर साक्षात इंद्रलोक और देवलोक उतर आयी हो। इधर शिवगंगा में सुरक्षा बलों के अलावे पर्याप्त संख्या में गोता�

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More