सुहागन ज्वेलर्स के मालिक पर गोलीबारी की घटना का पुलिस ने किया खुलासा

0 225

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

सुहागन ज्वेलर्स के मालिक पर गोलीबारी की घटना का पुलिस ने किया खुलासा

पांच पेशेवर अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार

- Sponsored -

- Sponsored -

पटना— बुधवार को राजीवनगर थानाक्षेत्र अंतर्गत जयप्रकाश नगर अवस्थित सुहागन ज्वेलर्स में कुछ अज्ञात हथियारबन्द अपराधियों द्वारा प्रतिष्ठान के मालिक राकेश कुमार सोनी पर ताबड़तोड़ गोलियाँ चलायी गई है , जिसमें वे गंभीर रूप से घायल हुए है ।

जिसके बाद वरीय पुलिस अधीक्षक पटना द्वारा घटना के उद्भेदन एवं अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु नगर पुलिस अधीक्षक मध्य पटना के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया गया, जिसमें पुलिस उपाधीक्षक विधि – व्यवस्था , थानाध्यक्ष राजीवनगर , शास्त्रीनगर , दीघा एवं अन्य पुलिसकर्मियों को शामिल किया गया ।गठित टीम द्वारा अनुसंधान के क्रम में यह स्पष्ट हुआ कि दिनांक 09.01.21 को भी इसी ज्वेलरी शो – रूम के सामने अज्ञात हथियारबन्द अपराधियों द्वारा गोलीबारी की गई थी , जिसमें एक सरकारी शिक्षक सुशील कुमार को गोली लगी थी , इस काण्ड के अनुसंधान के क्रम में पेशेवर अपराधी पंकज शर्मा का नाम सामने आया था , जो उस समय केन्द्रीय कारा , बेऊर में काराधीन था । तत्काल टीम द्वारा पंकज शर्मा के संबंध में आसूचना संकलन का कार्य प्रारंभ किया गया ।इसी क्रम में सूचना मिली कि अपराधी पंकज शर्मा इन दिनों रामनगरी राजीवनगर क्षेत्र में अपने गुर्गों के साथ लगातार देखा जा रहा है । तत्काल क्षेत्र की घेराबन्दी कर गोपनीय सूचना पर संदिग्ध हुलिये के बाईक पर सवार दो व्यक्तियों को पकड़ा गया । तलाशी के क्रम में इनके पास से एक देशी पिस्टल एवं दो जिन्दा कारतूस बरामद हुआ ।

इन्होंने अपना नाम पंकज शर्मा एवं प्रवीण कुमार उर्फ झुन्नु बताया । पूछ – ताछ करने पर इन्होंने खुलासा किया कि सुहागन ज्वेलर्स गोली काण्ड की वारदात इन्हीं लोगों के द्वारा अंजाम दिया गया है । घटना में इनदोनों के अलावा गोविन्दा , थाना बिदुपुर जिला वैशाली व उसके तीन अन्य साथी शामिल थे । पकड़ा गया होंडा बाईक का इस्तेमाल भी इस घटना में किया गया था । पंकज शर्मा द्वारा अग्रतर खुलासा किया गया कि इस स्वर्णकार को मैं पूर्व में लूटे हुए स्वर्ण आभूषण बेचता था । इसी संबंध में इससे पुराना लेन – देन बकाया था , जिसे मैं दो – तीन वर्षों से मांग रहा था एवं स्वर्णकार द्वारा बार – बार इनकार किया जा रहा था । इसी अदावत में पूर्व में भी मैंने इस पर हमला करवाया था , जिसमें किसी अन्य व्यक्ति को गोली लग गयी थी एवं इस बार भी इसे मारने के लिए मैंने ही इस पर गोली चलवायी ।घटना से पूर्व मैने झुन्ना के भाई सुविन्द कुमार उर्फ बंटी से इस काम में मदद मांगा था, पकड़ाये लगभग सभी अपराधियों का पूर्व अपराधिक इतिहास रहा है तथा ये जेल जा चुके है । इन सभी का अपराधिक इतिहास खँगाला जा रहा है । गिरफ्तार अपराधी बंटी कुमार भी पूर्व में अपराधी पंकज शर्मा के साथ अपहरण के काण्ड में जेल जा चुका है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More