चुनाव के लिए कांग्रेस ने क्लस्टर वाइज स्क्रीनिंग कमेटी का गठन किया,पांचवें क्लस्टर में बिहार

90

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

चुनाव के लिए कांग्रेस ने क्लस्टर वाइज स्क्रीनिंग कमेटी का गठन किया है। कई राज्यों को मिलाकर एक क्लस्टर बनाया गया है। बिहार को पांचवें क्लस्टर में रखा गया है। इसमें पूर्वी व पूर्वोत्तर के दूसरे राज्य भी सम्मिलित हैं। शुक्रवार को राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी सूची में बताया गया है कि प्रत्येक क्लस्टर में एक अध्यक्ष और दो सदस्य नामित किए गए हैं।  राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे के निर्देश पर ऐसा हुआ है।

बिहार के साथ झारखंड, बंगाल, असम, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मिजोरम, मेघालय, नगालैंड, त्रिपुरा और सिक्किम को पांचवें क्लस्टर में रखा गया है और राणा केपी सिंह को पांचवें क्लस्टर का अध्यक्ष बनाया गया है। जयवर्द्धन सिंह और इवान डिसूजा इसके सदस्य हैं। ये लोग ही इन राज्यों में चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट करेंगे।

- Sponsored -

- sponsored -

- sponsored -

तेलंगाना, कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल, लक्षद्वीप और पुडुचेरी वाले क्लस्टर में, हरीश चौधरी को स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया है, जबकि जिग्नेश मेवाणी और विश्वजीत कदम इसके सदस्य हैं। आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, गोवा, ओडिशा, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के लिए मधुसूदन मिस्त्री को पैनल प्रमुख बनाया गया है। सूरज हेगड़े और शफी परम्बिल इसके सदस्य होंगे।

साथ ही बिहार कांग्रेस के पूर्व प्रभारी भक्त चरण दास को उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़, पंजाब, जम्मू और कश्मीर और लद्दाख वाले क्लस्टर के लिए स्क्रीनिंग कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।  समिति में पार्टी नेता नीरज दांगी और यशोमति ठाकुर को सदस्य नियुक्त किया गया है।

जबकि, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, दिल्ली, दमन और दीव और दादरा और नगर हवेली के लिए, रजनी पाटिल को स्क्रीनिंग कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है, जबकि कृष्णा अल्लावुरु और परगट सिंह इसके सदस्य हैं। पार्टी के अनुसार, सभी महासचिवों, प्रभारियों, राज्य पार्टी प्रमुखों, कांग्रेस विधायक दल के नेताओं और राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के लिए एआईसीसी सचिव प्रभारी को संबंधित समितियों के पदेन सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया है। समितियों का गठन लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी की रणनीति पर चर्चा के लिए शीर्ष नेताओं की बैठक के एक दिन बाद हुआ।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More