नहीं थम रहा IGIMS का विवाद, परिजन एवं चिकित्सक में भारी भिड़ंत

81

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

 मरीज के इलाज में लापरवाही बरतने के आरोप में आईजीआईएमएस के इमरजेंसी आईसीयू में सोमवार की रात परिजन और चिकित्सक भिड़ गए। दोनों ओर से मारपीट हुई। हथियार भी लहराए जाने की खबरें निकल कर सामने आयी है। उसके बाद अब भी यह विवाद थमता हुआ नजर नहीं आ रहा है बल्कि आज सुबह भी हंगामा जारी है और डॉक्टरों ने ओपीडी सेवा को बंद कर दिया है।

मिली जानकारी के अनुसार,आरा की महिला मरीज की मौत से जो बवाल मचा है वो थमने का नाम नहीं ले रहा है। आज डॉक्टर ने अस्पताल के ओपीडी को बंद कर दिया है। मरीज के परिजनों ने जमकर बवाल शुरू कर दिया और सड़क को पूरी तरीके से जाम कर दिया। आईजीआईएमएस के गेट के ठीक सामने सड़क के दोनों और ब्रैकेटिंग लगाकर आने जाने वाली तमाम गाड़ियों को रोक दिया है। जानकारी मिलने के बाद मौके पर शास्त्री नगर थाने की पुलिस पहुंचकर कर मामले को शांत करवाया है।

- Sponsored -

- Sponsored -

आरा निवासी कुसुम लता देवी को 24 फरवरी को इमरजेंसी में भर्ती कराया गया था। मरीज का वेंटिलेटर पर इलाज चल रहा है था।  अस्पताल के उपनिदेशक का कहना था कि उनका किडनी, हार्ट और लंग तीनों फेल हैं। जबकि उनके परिजन सृजनी सिंह इलाज में लापरवाही का आरोप लगा सोमवार रात डॉक्टरों से बहस करने लगी। जबकि डायलिसिस के अनुकूल नहीं पाए जाने पर डायलिसिस नहीं कराया जा रहा था।

बाद में महिला परिजन रेडियोलॉजिस्ट से उलझ गई बहस करने लगी। महिला डॉक्टर जब परिजन को समझने आई तो वह उनके साथ भी धक्का-मुक्की करने लगी। एक परिजन ने रिवॉल्वर लहराया। थानेदार ने बताया कि चार नामजद व छह अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। हथियार लहराने वाले चंद्रभान को गिरफ्तार कर लिया गया है और आरोपित की रिवाल्वर और 20 राउंड गोली और एक मोबाइल जब्त किया गया है। डॉक्टर से बदसलूकी देख मेडिकल छात्र पहुंच गए और मारपीट शुरू हो गई। एक परिजन ने रिवाल्वर लहरा दिया। परिजनों का आरोप है मेडिकल छात्रों ने मारपीट की जिससे मामला तूल पकड़ा।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More